केवल कागजों में ही बांटा जा रहा है लॉकडाउन में आँगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा रेडी टू ईट पोषण आहार - News Adda India

Header Ads

केवल कागजों में ही बांटा जा रहा है लॉकडाउन में आँगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा रेडी टू ईट पोषण आहार


- कीटों वाली मिठाई बांटने के बाद खुल गई पोल
- शिवपुरी में आंगनबाड़ी केंद्रों का बुरा हाल
शिवपुरी।
शिवपुरी जिले में नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण
की रोकथाम के लिए किए गए टोटल लॉकडाउन के दौरान भी आँगनवाड़ी कार्यकर्ता और महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसर जमकर फर्जीवाड़ा कर रहे हैं। शासन स्तर से निर्देश है कि आँगनवाड़ी केन्द्रों के बंद रहने की स्थिति में आँगनवाड़ी सेवा से सम्बद्ध 6 माह से 6 वर्ष तक के आयु वर्ग के बच्चों एवं गर्भवती/धात्री माताओं को टेक होम राशन और रेडी टू ईट पूरक पोषण आहार घरों तक बांटा जाए लेकिन शिवपुरी जिले में यह प्रक्रिया केवल कागजों में ही चल रही है और फर्जीवाड़ा कर कागजी प्रक्रिया को अंजाम दिया जा रहा है। शिवपुरी शहर के वार्ड 35 और अन्य स्थानों पर बच्चों को सड़ी मिठाई बांटी गई थी उसमें कीट लगे थे और कई बच्चों को यह घटिया मिठाई बांटी गई। इस घटिया मिष्ठान बांटे जाने के बाद यह सामने आया है कि जिले में सब फर्जीवाड़ा चल रहा है और पोषण आहार का पूरा बजट केवल कागजी खानापूर्ति कर ठिकाने लगाया जा रहा है। इसमें महिला बाल विकास विभाग के बड़े अधिकारियों के साथ-साथ निचला स्टाफ तक शामिल है।
इस तरह का पोषण आहार होना है वितरित-
लॉकडाउन में आँगनबाड़ी केन्द्रों में 3 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को मिलने वाले नाश्ता और गर्म पका भोजन व्यवस्था प्रभावित होने के कारण रेडी टू ईट पूरक पोषण आहार की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। आँगनबाड़ी कार्यकर्ता स्थानीय स्तर पर हॉट कुक भोजन प्रदाय व्यवस्था से सम्बद्ध स्व-सहायता समूह के माध्यम से ताजा पका गुणवत्तायुक्त रेडी टू ईट पूरक पोषण आहार घर-घर जाकर प्रदान करना है लेकिन यह कागजों में ही चल रहा है।
मास्क व सेनिटाईजर भी नहीं बांटे गए-
भोपाल से निर्देश पर शिवपुरी जिले में रेडी टू ईट पोषण आहार को तैयार करने के लिये जिला कलेक्टर के अनुमोदन से जिला/ब्लाक/परियोजना/सेक्टर/ग्राम स्तर पर समूहों का निधार्रण किया गया है। इस रेडी टू ईट' पूरक पोषण आहार को तैयार करने में शामिल सभी सदस्यों का कोविड-19 के संबंध में मेडीकल स्क्रीनिंग सुनिश्चित किया जाना है साथ ही आँगनबाड़ी कार्यकर्ता भी कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क, सेनिटाइजर और ग्लब्स का उपयोग होगा लेकिन ऐसा कुछ स्थानों पर ही देखा गया है अधिकतर लोगों को मास्क व सेनिटाईजर सामग्री नहीं दी गई है।

No comments